28-07-2017 06:11 Home   |   About Us   |   Enquiry   |   Contact Us
 
JIO से भी सस्ता डाटा देगी ये कंपनी

अब इसे रिलायंस जियो (Jio) से टक्कर लेने वाला एक जोरदार कदम कहिए या फिर भारत जैसे विशालकाय बाजार में अपनी पहुंच बढ़ाने का कदम, एक के बाद एक टेलिकॉम कंपनियां अपने उपभोक्ताओं को कम से कम कीमत पर मोबाइल डाटा, मुफ्त कॉलिंग (रोमिंग समेत) देने की पेशकश कर रही हैं. इसी बीच कनाडा की मोबाइल हैंडसेट बनाने वाली कंपनी डाटाविंड (Datawind) 200 रुपये में साल भर के लिए डाटा (इंटरनेट) की पेशकश कर सकती है. अब अगर 200 रुपये को 12 महीने के लिए बांटें तो एक महीने में लगभग 17 रुपये में आप पूरा महीना मोबाइल डाटा इस्तेमाल कर पाएंगे.

कंपनी के अध्यक्ष एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनीत सिंह तुली ने कहा है कि कंपनी की योजना ऐसे डाटा प्लान पेश करने की है जो 20 रुपये महीना या उससे कम कीमत के होंगे. इसके लिए कंपनी की अपने दूरसंचार सेवा कारोबार में 100 करोड़ रुपये निवेश की योजना है जिसे वह लाइसेंस मिलने के बाद पहले छह महीनों में निवेश करेगी.

सस्ते स्मार्टफोन और टैबलेट बनाने वाली कंपनी ने पूरे देश में वर्चुअल नेटवर्क सेवाएं देने के लिए लाइसेंस के लिए आवेदन किया है. यह लाइसेंस मिलने के बाद कंपनी डाटा सेवाएं और मोबाइल टेलीफोनी सेवाओं को पेशकश करने में सक्षम होगी लेकिन वह यह सेवा केवल किसी मौजूदा दूरसंचार सेवाप्रदाता के साथ साझेदारी करने के बाद ही दे पाएगी.

पहले पंजाबी शिक्षा टैबलेट को पेश करने के एक कार्यक्रम से इतर तुली ने कहा, हमें एक महीने के भीतर लाइसेंस मिलने की उम्मीद है. डाटाविंड कारोबार शुरू करने के लिए पहले छह महीने में 100 करोड़ रुपये निवेश करेगी. कंपनी का ध्यान डाटा सेवाओं पर रहेगा.डाटाविंड ने 3जी तकनीक पर आधारित 'विद्याटैब-पंजाबी' पेश किया है जिसकी कीमत 3,999 रुपये रखी गई है. तुली ने कहा कि जियो का 300 रुपये का प्लान केवल उनके लिए बेहतर है जो हर माह 1,000-1,500 रुपये खर्च कर सकते हैं. ऐसे लोगों की संख्या केवल 30 करोड़ है. बाकी की जनता मासिक आधार पर मात्र 90 रुपये खर्च करती है और उनके लिए यह सस्ता नहीं है. तुली ने कहा, हम 20 रुपये प्रति माह या उससे कम के प्लान पेश करेंगे. एक साल का इंटरनेट 200 रुपये से ज्यादा नहीं होना चाहिए.

 
 
खबरें जरा हटके
 
Advertisement
 
Dharm Jagat
 
Designed by : SriRam Soft Solutions Pvt. Ltd.
FacebookTwitterLinkedin